आज बंद है शेयर मार्केट, कल क्या खरीदें और किनसे रहें दूर, बता रहे हैं Experts

vशेयर मार्केट में बजट के बाद देसी और विदेशी फैक्‍टर्स की वजह से आई सुनामी के बाद इस सप्‍ताह स्थितियां बेहतर होती दिख रही हैं. सोमवार को सेंसेक्‍स 290 अंक से ऊपर जाकर बंद हुआ. इसी तरह निफ्टी में भी लगभग 84 अंकों की तेजी दिखी. आज यानी मंगलवार को महाशिवरात्री की वजह से बाजार बंद है, लेकिन उम्‍मीद की जा रही है कि बुधवार यानी कल भी बाजार में तेजी रह सकती है. एक्‍सपर्ट्स की मानें तो इकोनॉमी के फंडामेंटल्‍स मजबूत हैं और बाजार में जरूरी करेक्‍शन आ चुके हैं. अधिकांश टॉप कंपनियों के नतीजे अनुमान से अच्‍छे रहे हैं, ऐसे में आगे बेहतरी की उम्‍मीद बनती दिख रही है. सोमवार को मिडकैप में तेजी देखने को मिली, जो निवेशकों के लिए अच्‍छा संकेत है. ऐसे में हम बता रहे हैं कि आगे आपके लिहाज से किन शेयरों और सेक्‍टर की कंपनियों में निवेश बेहतर रहेगा-

मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में एक बार फिर जोश नजर आ रहा है. बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 1 फीसदी उछला है, जबकि निफ्टी के मिडकैप 100 इंडेक्स में 1.3 फीसदी की मजबूती दिख रही है. बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स 1.25 फीसदी तक बढ़ा है.

दिसंबर तिमाही के नतीजों का सिलसिला लगभग खत्म हो चुका है और ज्यादातर कंपनियों के नतीजे उम्मीद के मुताबिक रहे हैं. बैंकों के लिए तीसरी तिमाही मिली-जुली रही है. वहीं वॉल्यूम बढ़ने से ऑटो सेक्टर में सुधार देखा गया. फार्मा कंपनियों पर अमेरिकी दबाव बरकरार है. इसी तरह एफएमसीजी कंपनियों के मार्जिन में जोरदार बढ़त दिखी है.

प्राइवेट बैंकों में एचडीएफसी बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक के नतीजे बेहतर रहे हैं, जबकि यस बैंक ने निराश किया और आईसीआईसीआई बैंक के नतीजे मिले-जुले रहे हैं. एनबीएफसी में बजाज फाइनेंस, एचडीएफसी और इंडियाबुल्स हाउसिंग के नतीजे अनुमान से बेहतर रहे हैं.

ऑटो में मारुति सुजुकी, महिंद्रा एंड महिंद्रा और हीरो मोटो के नतीजे बेहतर रहे हैं, जबकि टाटा मोटर्स और बजाज ऑटो ने निराश किया है. मेटल और माइनिंग कंपनियों में टाटा स्टील ने शानदार नतीजे पेश किए हैं, लेकिन हिंडाल्को ने निराश किया है. कोल इंडिया और वेदांता के नतीजे मिले-जुले रहे हैं.

आईटी कंपनियों में इंफोसिस और टीसीएस ने अच्छे नतीजे पेश किए, लेकिन विप्रो ने निराश किया है. एफएमसीजी कंपनियों में एचयूएल के नतीजे बेहतर आए हैं, जबकि आईटीसी के नतीजे मिले-जुले रहे हैं और एशियन पेंट्स ने निराश किया है. फार्मा कंपनियों में ल्युपिन ने काफी निराश किया, लेकिन सिप्ला और डॉ रेड्डीज के नतीजे अच्छे रहे हैं.

तीसरी तिमाही के नतीजों के बाद अब कहां दांव लगाना चाहिए, इस पर जियोजित फाइनेंशियल के इन्वेस्टमेंट स्ट्रैटेजी हेड गौरांग शाह का कहना है कि लंबी अवधि के लिहाज से एचडीएफसी बैंक में पैसे लगाने चाहिए. लंबी अवधि में एचडीएफसी बैंक में 2,150 रुपये का स्तर देखने को मिल सकता है. साथ ही लंबी अवधि के लिहाज से एस्कॉर्ट्स में पैसे लगाने चाहिए. लंबी अवधि में एस्कॉर्ट्स में 1,065 रुपये का स्तर देखने को मिल सकता है.

वहीं मोतीलाल ओसवाल के हेड ऑफ रिसर्च गौतम दुग्गड ने लंबी अवधि के लिहाज से टाइटन में पैसे लगाने की सलाह दी है. गौतम दुग्गड का मानना है कि 1 साल की अवधि में टाइटन में 990 रुपये का स्तर देखने को मिल सकता है. साथ ही एचडीएफसी में पैसे लगाने चाहिए. 1 साल की अवधि में एचडीएफसी में 2,260 रुपये का स्तर देखने को मिल सकता है.

ad

Recommended For You

About the Author: news vandana

Vandana Sharma has, entered the world of abstract art from portrait pictures after learning and passing through the fine-tuned and refined process. And it has not happened in a single day. In fact, it is not possible without imbibing the multi-dimensions of the art tradition with keen interest and she has followed the tradition beautifully.